अक्सर लोगों को 30 वर्ष की उम्र के बाद गठिया और उसमें दर्द व सूजन की शिकायत होने लगती है और गलत खानपान से यह तकलीफ बढ़ भी सकती है। शरीर में यूरिक

एसिड का स्तर बढ़ने पर भी इस तरह की समस्याओं में इजाफा होता है। ऐसी स्थ‍िति में आपके लिए मददगार होंगे यह 5 उपाय

* विटामिन सी से भरपूर फलों का सेवन यूरिक एसिड कम करने में बेहद मददगार साबित होगा। इसके साथ ही चेरी, ब्लू बेरी जैसे फलों जूस, शरीर में बढ़े हुए यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में मददगार है।
* हाई फाइबर फूड का सेवन भी बढ़े हुए यूरिक एसिड को कम करने में सहायक है। यह यूरिक एसिड को सोखने में मददगार है। इसके अलावा अंगूर के बीजों का प्रयोग कई बीमारियों की दवाओं में किया जाता है।
* हरा धनिया एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है और एक तरह से डाइयूरेटिक की तरह काम करता है। इसका व इसके जूस का भरपूर सेवन करना गठिया और अन्य तकलीफों से निजात दिलाएगा।
* फैटी चीजें और अधिक मीठे खान-पान एवं पेय पदार्थों का सेवन यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में बाधा पैदा कर सकता है। यूरिक एसिड बढ़ने पर शराब और इन चीजों का सेवन न करें।
* एपल साइडर विनेगर यानी सेब का सिरका, पानी के साथ मिलाकर लेना भी फासदेमंद है। डॉक्टर्स भी यूरिक एसिड का स्तर कम करने के लिए कुछ दवाएं देते हैं, जो आपकी सेहत और शरीर की प्रकृति के अनुसार दी जाती हैं। डॉक्टर की मदद लेना एक बेहतर उपाय साबित होगा।