नई दिल्ली। अयोध्या में भूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में आज अहम सुनवाई होगी। आज विवादित भूमि को तीन हिस्सों में बांटने के इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर सुनवाई होगी। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस एम जोसेफ की बैंच सुनवाई करेगी, जो पूरी तरह से नई बैंच होगी।

सुनवाई और राजनीतिक घटनाग्रम से जुड़े लाइव अपडेट्स…

* भाजपा के नेता विनय कटियार ने कहा कि यह मंदिर या मस्जिद की लड़ाई नहीं है। यह राम जन्मभूमि की लड़ाई है, यह आस्था की लड़ाई है और इसके पक्ष में फैसला नहीं आया तो देश में बड़े-बड़े आंदोलन खड़े होंगे।

*सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई 11 बजे से प्रारंभ होगी।
*भारतीय जनता पार्टी के नेता और केंद्रीय मं‍त्री गिरिराज सिंह ने कहा कि हिंदुओं का सब्र अब टूट रहा है। मैं नहीं जानता कि तब देश में क्या होगा। कांग्रेस ने हर समय राम मंदिर के निर्माण का कार्य रोका है। सिंह ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर बनेगा।

इससे पहले 27 सितंबर को पूर्व मुख्य न्यायधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली बैंच ने मस्जिद में नमाज की अनिवार्यता के सवाल को संविधान पीठ को भेजने से मना कर दिया था। जिसके बाद से अयोध्या भूमि विवाद की सुनवाई शुरू करने में आ रही अड़चन खत्म हो गई थी।

अयोध्या विवाद में आज सुनवाई करने वाली चीफ जस्टिस की रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बैंच पूरी तरह से नई होगी। नई बेंच में चीफ जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस एम जोसेफ शामिल हैं. इससे पहले पूर्व चीफ जस्टिस की दीपक मिश्रा अध्यक्षता में जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस एस. अब्दुल नजीर मामले को देख रहे थे।
क्या था हाईकोर्ट का फैसला?
उल्लेखनीय है कि अयोध्या में विवादित ढांचा गिराए जाने के बाद आपराधिक केस के साथ-साथ भूमि के मालिकाना हक को लेकर भी मुकदमा चला। आठ साल पहले इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 2.77 एकड़ विवादित जमीन को तीन हिस्सों में बराबर बांटने का ऐतिहासिक फैसला दिया था।

राम मूर्ति वाला पहला हिस्सा राम लला विराजमान को मिला। राम चबूतरा और सीता रसोई वाला दूसरा हिस्सा निर्मोही अखाड़ा को मिला। जमीन का तीसरा हिस्सा सुन्नी वक्फ बोर्ड को देने का फैसला सुनाया गया। हाईकोर्ट के फैसले को हिंदू और मुस्लिम पक्षों ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी। तीनों ही पक्षों ने पूरी विवादित जमीन पर अपना अपना दावा ठोंका। इसी दावे पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होगी।