सावन के महीने में कुछ चीजों का सेवन वर्जित होता है। यह एक धार्मिक मान्यता है। इन मान्यताओं का उद्देश्य सेहत को बेहतर बनाए रखना होता है।

हरी सब्जियां : सावन के महीने में हरी पत्तेदार सब्जियां नहीं खानी चाहिए। इस महीने में पत्तेदार सब्जियां शरीर में वात को बढ़ाती है। इसके अलावा मानसून के दिनों में कीडों का संक्रमण अधिक होता है।
बैंगन : सावन के महीने में बैंगन नहीं खाया जाता। बरसात के दिनों में बैंगन में कीड़ों का प्रभाव अधिक होता है।
दूध : सावन के महीने में दूध, डेयरी प्रॉडक्ट का सेवन नहीं करना चाहिए। इन दिनों गाय भैंस चारे के साथ बारिश की संक्रमित चीजें भी खा लेती हैं इससे उनका दूध विषैला हो जाता है। इसीलिए सावन मास में दूध शिव जी को तो अर्पित होता है पर सेवन नहीं किया जाता।