नई दिल्ली। ‘हिटमैन’ के नाम से मशहूर रोहित शर्मा इंग्लैंड दौरे में लगातार 2 शतक लगाने के बावजूद भारतीय टेस्ट टीम में जगह नहीं हासिल कर पाए।

राष्ट्रीय चयनकर्ताओं ने इंग्लैंड के खिलाफ 5 टेस्टों की सीरीज के पहले 3 टेस्टों के लिए बुधवार को 18 सदस्यीय टीम की घोषणा की है जिसमें रोहित को जगह नहीं मिल पाई है। रोहित ने अपने करियर की शुरुआत 2007 में की थी लेकिन पिछले 11 वर्षों में जहां उन्होंने 183 वनडे और 84 ट्वंटी-20 मैच खेले, वहीं वह इस दौरान सिर्फ 25 टेस्ट ही खेल पाए।
रोहित ने अपने 25 टेस्टों में आखिरी टेस्ट इस साल जनवरी में दक्षिण अफ्रीका के दौरे में खेला था। रोहित को जून में अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट में भी जगह नहीं मिली थी।
सीमित ओवरों के बल्लेबाज का ठप्पा अपने ऊपर लगा चुके रोहित एकमात्र ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने वनडे में 3 दोहरे शतक और ट्वंटी-20 में 3 शतक बनाए हैं। इंग्लैंड दौरे में उन्होंने तीसरे और निर्णायक ट्वंटी-20 मैच में नाबाद 100 रन बनाकर भारत को 2-1 से सीरीज जीत दिलाई थी।
उन्होंने फिर पहले वनडे में नाबाद 137 रन बनाकर भारत को जीत दिलाई लेकिन अगले 2 मैचों में रोहित मात्र 15 और 2 रन बनाकर आउट हो गए और भारत ये दोनों मैच तथा सीरीज 1-2 से हार गया।
रोहित के इन 2 शतकों के बाद उम्मीद की जा रही थी कि चयनकर्ता उन्हें टेस्ट टीम में मौका देंगे लेकिन रोहित का खराब टेस्ट रिकॉर्ड उनके आड़े आ गया। रोहित ने दक्षिण अफ्रीका में 2 टेस्टों में 11, 10, 10 और 47 के स्कोर किए थे लेकिन उन्हें तीसरे टेस्ट से हटा दिया गया था।
रोहित ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में 1 शतक बनाया था। रोहित ने अब तक 25 टेस्टों में 39.97 के औसत से 1, 479 रन बनाए हैं जिनमें 3 शतक और 9 अर्द्धशतक शामिल हैं।