जब किसी को कम सुनाई दे या बिलकुल ही सुनाई न दे तब इसे बहरापन कहा जाता हैं। इसकी शुरुआत बहुत हल्के से होती है फिर धीरे-धीरे यह बहरेपन जैसी गंभीर समस्या बनकर उभर आती है। अगर आपको किसी के द्वारा जोर से बोलने पर भी सुनने के लिए संघर्ष करना पड़ता है, तो आपको सुनने की समस्या हो सकती है। वैसे तो बहरेपन की कई वजह हो सकती है जैसे माथे पर चोट लगना, कान पकना या किसी प्रकार की कान की बीमारी होना आदि।
लेकिन आम दिनचर्या में कुछ ऐसी चीजें है, जिन्हें करते हुए यदि आपने सावधानी नहीं बरती तो आप बहरेपन के शिकार हो सकते हैं। आइए, जानते हैं, बहरेपन के इन्हीं कारणों के बारे में:
1. तेज आवाज में लगातार इयरफोन से संगीत सुनना। तेज ध्वनि ईयर ड्रम को क्षति पहुंचा कर उसे पतला कर देती है। तेज आवाज में लगातार इयरफोन के इस्तेमाल से आप बहरेपन का शिकार हो सकते हैं।
2. कई लोग घर पर ही अपने कानों की सफाई करने की कोशिश करते हैं। इसके लिए वे कानों में हेयरक्लिप्स, सेफ्टी पिन, माचिस की तीली एवं तीखी वस्तुएं डालकर कान को साफ करने लगते हैं। ऐसा करने से भी आप बहरेपन का शिकार हो सकते हैं।
3. बिना चिकित्सक के परामर्श के दर्दनिवारक दवाओं, एंटीबायोटिक आदि का सेवन करना भी बहरेपन के लिए जिम्मेंदार हो सकता है।
4. अपने वाहन में प्रेशर हॉर्न का इस्तेमाल करना भी बहरेपन भी वजह बन सकती है।
5. डीजे व पब में कानफोड़ू आवाज सुनने को मिलती है। यहां ज्यादा देर रुकने से इतनी तेज आवाज आपके कामों नें लगातार जाती हैं, जोकि आगे जाकर बहरेपन की वजह बन सकती हैं।