हिसार। सतलोक आश्रम के संचालक रामपाल सहित 15 लोगों को मंगलवार को सजा सुनाई जाएगी। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पुलिस व प्रशासन ने सुरक्षा कड़ी कर दी है।

रेपिड एक्शन फोर्स की तैनाती भी की गई है। पुलिस प्रशासन ने रामपाल समर्थकों को हिसार में प्रवेश करने से रोकने के लिए नाकेबंदी की है।
11 अक्टूबर को सेंट्रल जेल-1 में लगी अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश डीआर चालिया की अदालत ने इन्हें दोषी करार दिया था। अदालत ने रामपाल, उसके बेटे वीरेंद्र, भांजा जोगेंद्र, बहन पूनम व मौसी सावित्री के अलावा बबीता, राजकपूर उर्फ प्रीतम, राजेंद्र, सतबीर सिंह, सोनू दास, देवेंद्र, जगदीश, सुखवीर सिंह, खुशहाल सिंह, अनिल कुमार को अदालत ने दोषी ठहराया था।
एक अन्य मामले में एक महिला की हत्या के केस मुकदमा-430 में रामपाल समेत 14 दोषियों को 17 अक्टूबर को सजा सुनाई जानी है।