शरीर में वात-पित्त और कफ का संतुलन आपको स्वस्थ रखता है, लेकिन इनके असंतुलित होने पर आपको किसी न किसी प्रकार से स्वास्थ्य संबंधी परेशानी का सामना करना पड़ता है। पित्त के बढ़ने पर आपको 46 से 50 बीमारियों का खतरा होता है। जानिए पित्त को सही और संतुलित रखने के लिए क्या खाएं और क्या नहीं –

1
छाछ –
 दही का सेवन करने के बजाए इसे पतला करके छाछ के रूप में या लस्सी का सेवन करें। इस में अजवाइन का प्रयोग करना पित्त विकार के लिए फायदेमंद रहेगा।
2
काला नमक –
 छाछ के साथ या खाद्य पदार्थों के साथ काले नमक का सेवन करें लेकिन काला नमक दिन में ही प्रयोग करना फायदेमंद रहेगा।
3 काला जीरा – काला जीरा पित्त के संतुलन में काफी सहायक होता है। अगर पित्त की समस्या है तो काले जीरे को डाइट में शामिल करें।
4 गाय का घी –
घी तो आप खाते ही होंगे, लेकिन कोशिश करें कि गाय के घी का प्रयोग करें। यह पित्त की समस्या में लाभ देता है।
क्या न खाएं –
आयोडीन युक्त नमक का सेवन ज्यादा न करें।
फास्ट फूड, तले हुए, गरम व जलन वाले खाने,
आंवला रात को भिगो दें उसी में मसलकर छान लें अब मिश्री जीरा कूट के मिला के पिएं।