बुलावायो। सलामी बल्लेबाज फखर जमान के दोहरे शतक की बदौलत पाकिस्तान ने शुक्रवार को यहां जिम्बाब्वे को चौथे वनडे में 244 रनों से पराजित कर सीरीज में 4-0 की बढ़त बना ली।
फखर जमान156 गेंदों में नाबाद 210 रनों की पारी खेलकर एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में दोहरा शतक जड़ने वाले पहले पाकिस्तानी खिलाड़ी बने। जमान ने अपने करियर का तीसरा वनडे शतक और सीरीज में दूसरा सैकड़ा जड़ा। उन्होंने पारी में 24 चौके और 5 छक्के जमाए। इस पारी में पाकिस्तान ने और भी रिकॉर्ड बनाए, टीम ने बुलावायो में पहले बल्लेबाजी करते हुए केवल 1 विकेट गंवाकर 399 रनों का स्कोर खड़ा किया।
पाकिस्तानी टीम के सलामी बल्लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 304 रनों की साझेदारी निभाकर वनडे विश्व रिकॉर्ड भी बनाया, जो पाकिस्तान के लिए वनडे में किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है। कुल स्कोर भी उनकी वनडे में सबसे बड़ी पारी है।
पहले विकेट की साझेदारी का रिकॉर्ड श्रीलंका के सनत जयसूर्या और उपुल थंरगा के नाम था जिन्होंने 2006 में हेडिंग्ले में इंग्लैंड के खिलाफ 286 रनों की भागीदारी निभाई थी। फिर उसने अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन से जिम्बाब्वे को 42.4 ओवरों में 155 रनों पर समेट दिया। यह उसकी वनडे में दूसरी सबसे करारी हार है।
इल्टन वागुम्बुरा (37) और डोनाल्ड टिम्पानो (44) के बीच 6ठे विकेट के लिए 69 रनों की साझेदारी नहीं बनी होती तो वह इस स्कोर से पहले ही सिमट जाती। पाकिस्तानी लेग स्पिनर शदाई खान ने 28 रन देकर 4 विकेट झटके।
इससे पहले सलामी बल्लेबाज इमाम उल हक के आउट होने के बाद यह विशाल साझेदारी समाप्त हुई जिन्होंने 113 रन (122 गेंदों में 8 चौके) से शतक जड़ा। टीम ने एकमात्र उन्हीं का विकेट गंवाया।
उनके बाद आसिफ अली क्रीज पर उतरे जिन्होंने रन गति बरकरार रखते हुए 22 गेंदों में 50 रन जोड़े जिससे पाकिस्तानी टीम वनडे में पिछले 385 रन (बांग्लादेश के खिलाफ 2010 में) के सबसे बड़े स्कोर को पीछे छोड़ने में सफल रही। पाकिस्तानी टीम पहले ही सीरीज अपने नाम कर चुकी थी।