नई दिल्ली। भगोड़े शराब कारोबारी के एक बयान ने वित्तमंत्री अरुण जेटली की मुसीबत बढ़ा दी है। माल्या ने कहा कि वह विदेश जाने से पहले वित्तमंत्री जेटली से मिले थे।
माल्या ने कहा कि वह सेटलमेंट को लेकर वित्त मंत्री से मिले थे, लेकिन बैंकों ने सेटलमेंट प्लान पर आपत्ति ली थी। उन्होंने कहा कि वह अपना बकाया चुकाने को तैयार हैं।

कोर्ट में सुनवाई के बाद पत्रकारों ने जब जेटली से मुलाकात को लेकर सवाल पूछा तो माल्या जानकारी देने से इंकार कर दिया। हालांकि बाद में आई टीवी रिपोर्टों के मुताबिक माल्या ने कहा कि वह राज्यसभा से बाहर निकलते समय जेटली से मिले थे।
जेटली का इंकार : हालांकि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि वह माल्या से नहीं मिले। जेटली ने कहा कि उन्होंने माल्या को मिलने का वक्त नहीं दिया था।