आईएएस शाह फैसल ने एक बार भी विवादित बयान दिया है। संविधान के अनुच्छेद 35 ए की वैधता को चुनौती देने वाली याचिका पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो सकती है। अलगाववादी संगठनों ने इसके विरोध में सोमवार को लगातार दूसरे दिन जम्मू-कश्मीर में बंद का ऐलान किया। रविवार को कई जगह प्रदर्शन भी हुए थे। प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर रखे हैं। रविवार को दो दिन के लिए अमरनाथ यात्रा रोक दी गई थी।

2010 बैच के यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के टॉपर फैसल ने कहा कि संविधान के अनुच्छेद 35 ए को रद्द करने से देश के बाकी हिस्से से जम्मू-कश्मीर का संबंध खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इसके बाद चर्चा के लिए कुछ भी नहीं बचेगा। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर का विलय भारत के संविधान के लागू होने से पहले हुआ।
आईएएस अधिकारी ने हालांकि कहा कि जम्मू कश्मीर के संबंध में विशेष संवैधानिक प्रावधान से देश की संप्रभुता और अखंडता को कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा कि संविधान में जम्मू कश्मीर राज्य के लिए कुछ विशेष प्रावधान रखे गए हैं। यह अनोखी व्यवस्था है। यह भारत की अखंडता के लिए कोई खतरा नहीं है। फैसल मिड करियर स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए अमेरिका में हैं। इससे पहले भी फैसल ने दुष्कर्म को लेकर विवादित ट्वीट किया था।