मुंबई। भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने कहा कि वे अपने गेंदबाजी एक्शन पर मिलने वाली अलग-अलग तरह की राय को तरजीह नहीं देते, क्योंकि वे जिस तरह से गेंदबाजी कर रहे हैं, उसमें वे सहज महसूस करते हैं। विशेषज्ञ जैसे पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज अकीब जावेद को लगता है कि अपने अजीब गेंदबाजी एक्शन से ही वे चोटिल होते रहते हैं।

24 वर्षीय बुमराह ने यहां कहा कि मैं इस बात पर ध्यान नहीं देता कि विशेषज्ञ क्या कह रहे हैं, क्या नहीं। मैं इस पर ध्यान लगाता हूं कि किस चीज से मुझे मदद मिलती है और मैं अपने शरीर पर ध्यान लगाने की कोशिश करता हूं कि मुझे खुद को फिट बनाए रखने के लिए क्या करने की जरूरत है।

बुमराह ने कहा कि क्रिकेट में कोई भी परफेक्ट एक्शन नहीं होता, मुझे एक भी ऐसा गेंदबाज बताओ, जो चोटिल नहीं होता। मैं इस पर ध्यान लगाता हूं कि अपना फिटनेस स्तर किस तरह से सुधारूं? डेथ ओवर के विशेषज्ञ गेंदबाज ने कहा कि हालात को देखे बिना आगामी ऑस्ट्रेलियाई दौरे के बारे में टिप्पणी करना सही नहीं होगा। वहां हमेशा गेंद बाउंस होती है, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में अब ज्यादा स्कोर वाले मैच भी हो रहे हैं। मैं ज्यादा आगे के बारे में ध्यान नहीं लगा रहा हूं, मैं सिर्फ अगले मैच के बारे में सोचूंगा।

बुमराह ने कहा कि जब मैं ऑस्ट्रेलिया पहुंच जाऊंगा तो मैं विकेट का आकलन करूंगा, क्योंकि अगर आप कुछ सोचकर जाओ और आपको ऐसा नहीं मिले तो कोई आपके पास कोई चारा नहीं होगा। मैं वहां जाऊंगा, हालात देखूंगा और उसके अनुसार ही योजना बनाऊंगा।