जम्मू-कश्मीर में शहरी स्थानीय निकाय चुनाव के पहले चरण का मतदान जारी है। प्रदेश में 13 साल बाद निकाय चुनाव हो रहे हैं। चार चरणों में होने वाले चुनाव के पहले चरण के लिए सोमवार को 16 निगम इकाइयों में मतदान है।

पहले चरण के लिए प्रचार शनिवार सुबह खत्म हुआ। पहले चरण में करीब एक दर्जन जिलों के 422 वॉर्डों में मतदान हो रहा है। पहले चरण में 1,283 उम्मीदवार मैदान में हैं। पहले चरण में जम्मू के 247 वॉर्ड, कश्मीर में 149 और लद्दाख के 26 वॉर्ड में चुनाव हो रहे हैं। निकाय चुनाव के चलते दक्षिण कश्मीर में मोबाइल इंटरनेट सर्विस बंद कर दी गई है। घाटी के अन्य हिस्सों में मोबाइल इंटरनेट सर्विस को 4G से घटाकर 2G कर दिया गया है।
अलगाववादियों ने चुनाव के बहिष्कार का आह्वान किया है। आतंकवादियों ने इन चुनावों में भाग लेने वाले लोगों को निशाना बनाने की धमकी दी है, वहीं जम्मू-कश्मीर में शहरी स्थानीय निकाय के पहले चरण के चुनाव से पहले तीन अलगाववादी नेताओं को नज़रबंद कर दिया गया है।
हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नरमपंथी धड़े के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारुक, जम्मू कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के प्रमुख यासीन मलिक और हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के कट्टरपंथी धड़े के प्रमुख सैयद अली शाह गिलानी रविवार को नज़रबंद किए गए।