खराब फॉर्म से जूझ रहे टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी को दिग्गज सुनील गावस्कर ने एक खास सलाह दी है। लिटिल मास्टर ने माही से कहा है कि वे टीम से बाहर होने पर भी लगातार क्रिकेट खेलें, जो कि अगले वर्ष होने वाले क्रिकेट विश्वकप में भारत के लिए सहायक होगा। गावस्कर ने कहा कि युवाओं को मौका देने के लिए धोनी ने टी-20 टीम से अपना नाम वापस ले लिया होगा।
चयनकर्ताओं ने धोनी को विंडीज के खिलाफ चल रही टी-20 सीरीज और फिर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी20 टीम से बाहर रखने का निर्णय लिया था। चयनकर्ताओं के इस फैसले से धोनी के फैंस ने नाराजगी भी जाहिर की थी, लेकिन बाद में खुद कप्तान विराट ने सामने आकर यह साफ किया कि धोनी ने युवा विकेटकीपर ऋषभ पंत को ज्यादा अनुभव देने के लिए यह निर्णय लिया है।
एक टीवी चैनल के साथ इंटरव्यू में गावस्कर ने कहा कि धोनी को अब टीम से बाहर होने पर क्या करना चाहिए। गावस्कर ने कहा है कि ‘धोनी ने जो निर्णय लिया है, वह इसलिए लिया है क्योंकि वे जानते हैं कि 2020 टी-20 विश्वकप होना है उसमें वो शामिल नहीं होंगे, इसीलिए उन्होंने भारतीय क्रिकेट के भले के बारे में सोचा है और वे चाहते हैं कि ऋषभ पंत को टी-20 क्रिकेट का अनुभव मिले, इसलिए उन्होंने खुद को टी-20 टीम से अलग कर लिया।
इसके साथ ही लिटिल मास्टर ने धोनी को टीम से बाहर होने के बावजूद लगातार क्रिकेट खेलने की सलाह दी है। उन्होंने कहा है कि धोनी कम क्रिकेट खेलते हैं इसलिए मैं चाहता हूं कि वे घरेलू क्रिकेट में झारखंड के लिए खेलते रहें, उससे ही उन्हें प्रैक्टिस मिलेगी।