चेन्नई। इंडियन प्रीमियर लीग के टी20 मसाला क्रिकेट में आज एक दिलचस्प मुकाबला चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच होने जा रहा है। 2 साल के वनवास के बाद महेंन्द्र सिंह धोनी की टीम पहली बार अपने घरू मैदान पर खेलेगी और दशकों को इंतजार रहेगा रोमांचक क्रिकेट दावत का। चेनई और कोलकाता की भिड़ंत इस मायने में भी और अधिक दिलचस्प हो गई है क्योंकि यहां पर टीम इंडिया के दो विकेटकीपरों धोनी और दिनेश कार्तिक के बीच जंगी मुकाबला होगा।

मैदान पर जहां चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान एमएस धोनी अपने रंग में होंगे तो दूसरी तरफ कोलकाता नाइट राइडर्स के नए नवेले कप्तान दिनेश कार्तिक के लिए यह चुनौती रहेगी कि वे किस चतुराई के साथ कोलकाता के बाहर जाकर एक नामी टीम का मुकाबला करते हैं।

मैच से ठीक पहले चेन्नई के लिए यह बुरी खबर है कि आईपीएल के इस सत्र के पहले ही मैच में गत विजेता मुंबई इंडियंस का उसी के घर में शिकार कर ‘हीरो’ बने केदार जाधव चोटिल होने की वजह से आईपीएल से बाहर हो गए हैं। धोनी ने केदार जाधव पर बहुत बड़ा दांव खेला था और चेन्नई सुपर किंग्स के लिए उन्हें 7 करोड़ 40 लाख में खरीदा था। केदारा जाधव का एकादक आईपीएल के पूरे सत्र से रुखसत होना चेन्नई सुपर किंग्स के लिए एक बहुत बड़ा झटका है।
चेन्नई और कोलकाता दोनों टीमों ने अपने पिछले मैच दो स्टार खिलाड़ियों के बूते पर जीते थे। मुंबई के खिलाफ चेन्नई के लिए ड्‍वेन ब्रावो ने ऐसे वकत करिश्माई पारी खेली, जब मैच के सारे सूत्र मेजबान टीम अपने हाथों में रख चुकी थी और मुंबई के समर्थकों ने जश्न मनाने की तैयारी भी शुरु कर दी थी लेकिन देखते ही देखते पासा पलट गया।
दूसरी तरफ कोलकाता नाइट राइडर्स के स्टार बल्लेबाज सुनील नारायण ने अपने घरेलू मैदान ईडन गार्डन में सितारों से सजी रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के खिलाफ तूफानी अर्धशतक ठोंका था। ड्वेन ब्रावो और सुनील नारायण दोनों को ही ‘मैन ऑफ द मैच’ के पुरस्कार से नवाजा गया था।
चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स दोनों ही टीमों ने आईपीएल के 11वें संस्करण में जीत के साथ आगाज़ किया है, लिहाजा दोनों की पहली प्राथमिकता इस लय को बरकरार रखने की होगी। यह देखना भी दिलचस्प होगा कि एमएस धोनी और दिनेश कार्तिक अपने अनुभव के बूते पर अपनी तरकश से ऐसे कौनसे तीर चलाते हैं ताकि विरोधी टीम पस्त हो सके।
एम ए चिदंबरम स्टेडियम पर चेन्नई सुपर किंग्स की टीम मई 2015 के बाद पहली बार खेलेगी और उसके धुर समर्थकों के लिए यह किसी जश्न से कम नहीं होगा। धोनी की सेना के वीर चाहेंगे कि वे दर्शकों के सामने ठीक उसी तरह का प्रदर्शन करें, जैसा वे एक चैम्पियन के रूप में कर चुके हैं।
मुंबई इंडियंस के खिलाफ चेन्नई के कप्तान धोनी अपनी ख्याति के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सके थे लेकिन कोलकाता के खिलाफ उन्हें एक नई शुरुआत करनी होगी। ऐसी शुरुआत जो टीम का मनोबल बढ़ा सके। यही नहीं, सुरेश रैना को भी अपने बल्ले का मुंह खोलना होगा। चेन्नई टीम दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस को भी उतारना चाहेगी और ऐसे में इंग्लैंड के तेज गेंदबाज मार्क वुड की जगह शार्दुल ठाकुर को मौका दिया जा सकता है।
एम ए चिदंबरम स्टेडियम की पिच हमेशा से स्पिनरों के लिए स्वर्ग साबित होती आई है। ऐसे में चेन्नई सुपर किंग्स की तिकड़ी रवींद्र जडेजा, इमरान ताहिर और हरभजन सिंह पर काफी कुछ दारोमदार रहेगा। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम की पिच बल्लेबाजों के अनुकूल थी, लिहाजा धोनी ने अपनी स्पिन तिकड़ी से केवल 5 ओवर ही फिंकवाए थे लेकिन कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ वे अपनी रणनीति में जरूर बदलाव करेंगे।
वेस्टइंडीज के जांबाज बल्लेबाज ड्‍वेन ब्रावो इंडियन प्रीमियर लीग के पहले आउट ऑफ फॉर्म में चल रहे थे लेकिन मुंबई इंडियन्स के खिलाफ वे गेंदबाजों पर भूखे शेर की तरह टूट पड़े थे। जसप्रीत बुमराह जैसे गेंदबाज को अंतिम ओवरों में छक्के जड़ने की हिमाकत कोई बल्लेबाज नहीं करता लेकिन ड्वेन ब्रावो ने यह करिश्मा कर डाला।
मुंबई इंडियन्स के खिलाफ कैरेबियाई खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो ने 30 गेंदों में सात छक्के उड़ाते हुए 68 रन ठोंककर चेन्नई की टीम को एक गेंद शेष रहते अविश्वसनीय जीत दिलाने में महती भूमिका अदा की थी। चेन्नई के दर्शक चाहेंगे कि ब्रावो अपने बल्ले का कमाल एम ए चिदंबरम स्टेडियम में दिखाएं।
कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ चेन्नई को जीत का निवाला निगलना है तो यह जरूरी होगा कि उसका टॉप ऑर्डर चले। शेन वॉटसन, अंबाति रायुडू, रैना, धोनी, और रवींद्र जडेजा को अपने बल्ले का कमाल दिखाना होगा।
बॉलीवुड में ‘किंग खान’ से मशहूर शाहरुख खान कोलकाता नाइट राइडर्स के सह मालिक हैं और टीम का जोश बढ़ाने के लिए वे अपनी बेटी सुहाना के साथ ईडन गार्डन में मौजूद थे। दिनेश कार्तिक की सेना ने भी शाहरुख को निराश नहीं किया और मैच के बाद अपनी बेटी के साथ मैदान पर आने को मजबूर कर दिया था। शाहरुख ने दर्शकों का अभिवादन किया और वादा किया कि इस सत्र में उनकी टीम जान लड़ाकर मुकाबला करेगी।
दिनेश कार्तिक के लिए पहली जीत इस मायने में भी खास थी क्योंकि वे पहली बार कोलकाता नाइट राइडर्स की कप्तानी कर रहे थे। पहले मैच में सुनील नारायण के बल्ले ने जो आग उगली थी, उसे कप्तान कार्तिक चेन्नई भी देखना पसंद करेंगे। टॉप ऑर्डर में नारायण के अलावा रॉबिन उथप्पा और क्रिस लिन जैसे सूरमा बल्लेबाजों को चेन्नई के तेज व स्पिन आक्रमण को नेस्तनाबूत करने की बड़ी जिम्मेदारी रहेगी। चेन्नई के गेंदबाजों को सबसे पहले सुनील नारायण को भी काबू करना होगा।
कोलकाता नाइट राइडर्स के पास दिल्ली का युवा खिलाड़ी नितीश राणा ‘तुरुप का इक्का’ साबित होने की कूवत रखता है। क्रिकेट बिरादरी नितीश राणा की गेंदबाजी का कमाल पहले ही मैच में उस वक्त देख चुकी है, जब उन्होंने एक ही ओवर में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर के दो स्टार बल्लेबाज विराट कोहली और एबी डी’विलियर्स का शिकार किया था। राणा एक ऑलराउंडर हैं और उन्होंने गेंदबाजी में कमाल दिखाने के अलावा 34 रन की पारी भी खेली थी।
धोनी के धुरंधरों के लिए नितीश राणा सबसे बड़े सिरदर्द साबित हो सकते है। लिहाजा उनकी पहली प्राथमिकता राणा की धारदार गेंदबाजी से पार पाने की होगी। यह जरूर है कप्तानी के मामले में कोलकाता नाइट राइडर्स के दिनेश कार्तिक धोनी के मुकाबले उन्नीसें हैं। इसीलिए दर्शकों की दिलचस्पी यही रहेगी कि ये दोनों विकेट के पीछे से अपनी सेना को किस तरह आगे बढ़ाते हैं।
बहरहाल, इंडियन प्रीमियर लीग में मंगलवार को एक रोमांचक मुकाबला होने जा रहा है। इस मैच में चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स दोनों ही टीमें जीत के साथ मैदान से बाहर आना पसंद करेंगी और यहीं से दोनों टीमों की आईपीएल में दशा और दिशा का पता चलेगा।