चेन्नई। ओपनर शिखर धवन (92) की फॉर्म में लौटने वाली बेहतरीन अर्द्धशतकीय पारी और युवा बल्लेबाज ऋषभ पंत (58) के पहले अर्द्धशतक से भारत ने विंडीज को तीसरे और अंतिम ट्वंटी-20 मैच में रविवार को आखिरी गेंद पर 6 विकेट से हराकर मेहमान विश्व चैंपियन टीम का 3-0 से सफाया कर दिया।
विंडीज ने निकोलस पूरन (नाबाद 53) और डेरेन ब्रावो (नाबाद 43) की तेजतर्रार पारियों से 3 विकेट पर 181 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया लेकिन शिखर और पंत के चौकों और छक्कों के दम पर भारत ने 20 ओवर में चार विकेट के नुकसान पर 182 रन बनाकर जीत हासिल कर ली।
भारत ने इस तरह विंडीज को अपने घर में तीनों फॉर्मेट में पराजित किया। भारत ने टेस्ट सीरीज 2-0 से, वनडे सीरीज 3-1 से और ट्वेंटी-20 सीरीज 3-0 से जीती।
शिखर ने ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले अपनी लय हासिल करते हुए 62 गेंदों में 92 रन में 10 चौके और दो छक्के लगाए और अपनी सर्वश्रेष्ठ टी-20 पारी खेली। पंत ने 38 गेंदों में 5 चौके और 3 छक्के उड़ाते हुए 58 रन ठोके। पंत का यह पहला ट्वेंटी-20 शतक था। कप्तान रोहित शर्मा (4) और लोकेश राहुल (17) के विकेट 45 रन तक गिर जाने के बाद शिखर और पंत ने जबरदस्त शतकीय साझेदारी की।
दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 130 रन की मैच विजयी अविजित साझेदारी की। पंत ने एक ख़राब शॉट खेल कर अपना विकेट गंवाया। पंत को कीमो पॉल ने बोल्ड किया। भारत का तीसरा विकेट 175 के स्कोर पर गिरा। पंत का विकेट गिरने के बाद मनीष पांडेय मैदान में उतरे। भारत को आखिरी ओवर में जीत के लिए पांच रन चाहिए थे।
आखिरी ओवर में खासा ड्रामा हुआ। शिखर पांचवीं गेंद पर कैच आउट हो गए। भारत को आखिरी गेंद पर एक रन चाहिए था और पांडेय ने सिंगल चुराकर भारत को जीत दिला दी। पांडेय चार रन पर नाबाद रहे।
इससे पहले विंडीज ने एमए चिदंबरम स्टेडियम में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और पहले दो मैचों के मुकाबले इस मैच में बेहतर प्रदर्शन किया। विंडीज ने तेज शुरुआत की, मध्य ओवरों में लड़खड़ाहट दिखाई लेकिन फिर संभलते हुए चुनौतीपूर्ण स्कोर बना लिया लेकिन उसके गेंदबाजों में इतना दम नहीं था कि वे इस स्कोर का बचाव कर पाते।
पूरन ने अपना पहला ट्वंटी-20 अर्द्धशतक बनाया और 25 गेंदों पर नाबाद 53 रन में 4 चौके और 4 छक्के लगाए। ब्रावो ने 37 गेंदों पर नाबाद 43 रन में दो चौके और दो छक्के लगाए। दोनों ने चौथे विकेट की अविजित साझेदारी में मात्र 43 गेंदों पर 87 रन ठोक डाले।
शाई होप (24) और शिमरोन हेत्माएर (26) ने पहले विकेट के लिए 6 ओवर में 51 रन ठोक डाले। होप ने 22 गेंदों में तीन चौके और एक छक्का लगाया जबकि हेत्माएर ने 21 गेंदों में चार चौके और एक छक्का लगाया। लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने पहले होप को और फिर हेत्माएर को आउट कर विंडीज का स्कोर नौ ओवर में दो विकेट पर 62 रन कर दिया। दिनेश रामदीन 15 गेंदों में एक छक्के की मदद से 15 रन बनाकर टीम के 94 के स्कोर पर आउट हुए। रामदीन का विकेट वाशिंगटन सुंदर ने लिया। ब्रावो और पूरन ने इसके बाद मजबूत साझेदारी की और कुछ अच्छे शॉट खेले जिसकी बदौलत विंडीज ने 20 ओवर की समाप्ति पर 181 रन बना लिए। पूरन ने फिर 4, 6, 4 जमाते हुए अपना पहला ट्वंटी-20 अर्धशतक पूरा कर लिया। इस ओवर में कुल 23 रन पड़े जिसने विंडीज के स्कोर को मजबूती दे दी।
खलील के आखिरी ओवर ने उनका स्पैल बिगाड़ दिया और उनके चार ओवर से 37 रन निकले। चहल ने 28 रन पर दो विकेट और सुंदर ने 33 रन पर एक विकेट लिया। भुवनेश्वर ने चार ओवर में 39 और क्रुणाल पांड्या ने चार ओवर में 40 रन दिए।