नई दिल्ली। डोकलाम में चीन की बढ़ती गतिविधियों के बीच भारत ने भी अरूणाचल प्रदेश में अपनी ताकत बढ़ा दी है। दिबांग, दाऊ देलाई और लोहित घाटियों में और अधिक भारतीय सैनिकों को तैनात कर दिया गया। अरुणाचल की सीमाओं पर ब्रह्मोस मिसाइल के साथ ही होवित्जर तोपें भी तैनात की गई है।

तिब्बत क्षेत्र में चीन की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सीमा पर निगरानी तंत्र को मजबूत किया जा रहा है और नियमित रूप से हेलीकॉप्टरों की तैनाती की गई है।
एक वेबसाइट में छपी खबर के अनुसार, भारत ने पूर्वी लद्दाख और सिक्किम में टी-72 टैंकों की तैनाती की है, जबकि अरुणाचल में ब्रह्मोस मिसाइलों और होवित्जर तोपें भी तैनात कर दी गई है। इसके साथ ही पूर्वोत्तर में सुखोई-30 एमकेआई स्क्वेड्रन्स को भी उतारा गया है।
डोकलाम में मुंह की खाने के बाद उसने चीन ने टाटू में इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार कर लिए हैं, जिसमें चीनी सेना के कैम्प और घर भी शामिल हैं। यह स्थान अरुणाचल प्रदेश के कवाथू के पास है। एएनआई ने ट्वीट कर यह जानकारी दी।