गोल्ड कोस्ट। भारत ने स्टार पहलवान सुशील कुमार (74 किग्रा) और राहुल अवारे (57) के स्वर्ण पदकों सहित गुरुवार को कुल सात पदक जीते और 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में अपने पदकों की संख्या 14 स्वर्ण सहित 31 पहुंचा दी। सुशील और राहुल के स्वर्ण पदकों के साथ अब भारत के गोल्ड कोस्ट में 14 स्वर्ण पदक हो गए हैं और वह तालिका में तीसरे स्थान पर मजबूत हो गया है।

भारत पिछले ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों के 15 स्वर्ण पदकों से अब सिर्फ एक स्वर्ण पदक पीछे है। भारत का स्वर्ण पदकों के लिहाज़ से यह अब तक का पांचवां सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हो चुका है, जबकि अभी खेलों में तीन दिन बाकी हैं। भारत ने 1990 में ऑकलैंड में जीते 13 स्वर्ण पदकों को पीछे छोड़ दिया है। भारत के गोल्ड कोस्ट में अब तक 14 स्वर्ण, सात रजत और 10 कांस्य सहित 31 पदक हो चुके हैं।

कुश्ती प्रतियोगिता में सुशील और राहुल के स्वर्ण पदक के अलावा बबीता कुमारी फोगाट (53) ने रजत और किरण (76) ने कांस्य पदक जीते। डिस्कस थ्रोअर सीमा पूनिया और नवजीत ढिल्लों ने एथलेटिक्स मुकाबलों में भारत का पदक इंतज़ार समाप्त करते हुए रजत और कांस्य पदक जीत लिए। सीमा का यह लगातार चौथा राष्ट्रमंडल खेल पदक है।

पूर्व विश्व चैंपियन तेजस्विनी सावंत ने महिलाओं के 50 मीटर राइफल प्रोन का रजत पदक अपने नाम किया। 37 साल की भारतीय निशानेबाज़ 618.9 के स्कोर के साथ दूसरे नंबर पर रहीं। भारत की स्टार खिलाड़ी मणिका बत्रा ने अपना शानदार प्रदर्शन बरकरार रखते हुए टेबल टेनिस स्पर्धाओं में एकल और महिला युगल के सेमीफाइनल में जगह बना ली।

मणिका ने क्वार्टरफाइनल में सिंगापुर की यिहान झोउ को एकतरफा अंदाज में 4-1 से हराया। भारत के महिला टीम स्वर्ण में अहम् भूमिका निभाने वाली मणिका ने महिला युगल में मौमा दास के साथ सेमीफाइनल में जगह बना ली है। भारत की ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधू, साइना नेहवाल, एचएस प्रणय और किदाम्बी श्रीकांत ने अपने-अपने एकल मैच जीतकर बैडमिंटन स्पर्धाओं के क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया है।

भारतीय शटलरों ने गुरुवार को अपने सभी वर्गों में कुल नौ मैच जीत लिए। इस बीच महिला हॉकी टीम को सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया से एक गोल से हार का सामना करना पड़ा और टीम अब कांस्य पदक के लिए इंग्लैंड से खेलेगी।