एक सनसनीखेज घटनाक्रम में चीन ने तिब्बत के रास्ते भारत में बहने वाली ब्रह्मपुत्र नदी का पानी रोक दिया है। पानी रुकने की वजह से अरुणाचल प्रदेश के एक बड़े हिस्से में सूखे की नौबत आ गई है।
चीन की यारलुंग सांगपो नदी को तिब्बत से अरुणाचल में प्रवेश के बाद सियांग कहा जाता है। यही सियांग असम में प्रवेश के बाद ब्रह्मपुत्र कहलाती है।
अरुणाचल प्रदेश से कांग्रेस सांसद निनोंग एरिंग ने केंद्रीय जल संसाधन राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल को पत्र लिखकर इस समस्या से अवगत कराया है। ब्रह्मपुत्र का पानी रुक जाने से अरुणाचल प्रदेश के तूतिंग, यिंगकियोंग और पासीघाट इलाके में इसके कारण सूखे के हालात पैदा हो गए हैं।
उन्होंने अपनी चिट्ठी में विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज और अर्जुन राम मेघवाल से मामले में हस्तक्षेप करने की मांग की है।
यह भी आशंका जताई जा रही है कि अगर भूस्खलन के चलते ब्रह्मपुत्र में गिरा पत्थर हट जाता है तो अरुणाचल में भीषण बाढ़ आ सकती है।