वजन बढ़ाने के लिए : वजन बढ़ाने के लिए दुग्ध कल्प बहुत फायदेमंद होता है। ड्रायफ्रूट्स, गेहूं के जवारे का रस तथा सभी तरह के फलों के रस से वजन बढ़ सकता है। कब्ज से छुटकारा पाना बहुत जरूरी होता है।
एसिडिटी के लिए : गाजर-पत्तागोभी, कद्दू और मिश्री, सेबफल-पाइनएप्पल का रस अम्लपित्त के लिए अच्छा होता है। एक गिलास पानी में नीबू का रस तथा आधा चम्मच मिश्री मिलाकर दोपहर के खाने के आधे घंटे पहले लेना चाहिए।
आंवले का चूर्ण सुबह और शाम को जरूर लेना चाहिए। दो वक्त के आहार के बीच सही अंतराल रखना जरूरी है। तनावमुक्त रहना, प्राणायाम और ध्यान करने से एसिडिटी में फायदा होता है।
जुकाम : कुनकुने पानी में नींबू का रस डालकर उसके गरारे किए जा सकते हैं। घूंट-घूंटकर पिया जा सकता है। तुलसी की पत्ती-पोदीने की पत्ती, आधा बड़ा चम्मच अदरक तथा गुड़ दो कप पानी में उबालें। फिल्टर करके उसमें एक नीबू का रस डालकर उपयोग करें।