जब आपके घर नन्हें-मुन्ने का जन्म होता है तब घर के सभी लोग खास कर घर की नानी-दादी व बड़ी महिलाएं आपको अपने बच्चे की रोज मालिश कराने की सलाह देती हैं। उनकी यह सलाह पूरी तरह जायज भी है। बरसों से हमारे यहां हर बच्चे के जन्म के बाद उसकी मालिश होते आई है। तो आइए जानते है आखिर क्यों आपके नन्हे बच्चे की मालिश इतनी जरुरी है…
नवजात बच्चे बहुत ही नाजुक होते हैं। उनके जन्म के 20 दिन बाद से ही उनकी मालिश या कह लें बेबी मसाज शुरु कर दी जानी चाहिए। आइए जानें शिशु की मालिश के जादुई फायदे…
1. मालिश से बच्चे के शरीर की थकी हुई माँसपेशियों को आराम मिलता है।
2. मालिश बच्चों को कई तकलीफों जैसे पसलियों का दर्द, थकान आदि से फायदा पहुँचाती है।

3. इससे रक्त संचार बढ़ता है और बच्चे के शरीर का विकास तेजी से होता है।

4. इससे बच्चे का शरीर मजबूत बनता है।

5. मालिश के साथ बच्चे की गेहूँ के आटे व तेल की लोई भी की जाती है। इससे उनके शरीर के अनचाहें बाल भी निकल जाते है तथा रक्तसंचार भी बढ़ता है।
6. मालिश का कोई विशेष मौसम नहीं होता है। यह हर मौसम में की जा सकती है। गर्मियों में दिन में दो बार तथा सर्दियों में तीन बार मालिश करना उचित रहता है।