प्रवचनकार आसाराम की गिरफ्तारी के बाद भी उनके अध्यात्म के साम्राज्य पर कोई फर्क नहीं पड़ा है। देशभर में फैले उनके आश्रमों को आसाराम की बेटी भारतीश्री संभाल रही हैं। वे बिलकुल आसाराम की तरह ही प्रवचन करती रही हैं, उनके जैसे ही नाचती, गाती और फूलों से श्रृंगार करती हैं।

आसाराम को नाबालिग से बलात्कार मामले में उम्रकैद की सजा दी गई है। उनका बेटा नारायण साईं भी बलात्कार के आरोपों में जेल में है। इस दौरान आसाराम की बेटी भारतीश्री अहमदाबाद से आश्रम का कामकाज देख रही हैं। खबरों के अनुसार वे भीड़ जुटाने में
पारंगत हैं। वे हाथ उठाकर भीड़ को उत्साहित करने की कोशिश करती हैं, प्रवचन से पहले संगीत में वे खुद बीच-बीच में गाती हैं और थिरकती हैं। वे एक मंझे हुए संत की तरह प्रवचन करती हैं।
43 साल की भारतीश्री की शादी 1997 में डॉक्टर हेमंत से हुई थी। शुरुआत में सब ठीक रहा, लेकिन फिर दोनों के रिश्तों में तनाव आने लगा और दोनों में तलाक हो गया। भारतीश्री अब पिता के साम्राज्य के साथ ही महिला आश्रमों का कामकाज देखती हैं, साथ
ही वे प्रवचन भी करती हैं। भारतीश्री पर ये आरोप लगे थे कि वे आसाराम के कहे अनुसार
लड़कियों को आश्रम से उनके पास भेजती थीं। आसाराम के पूर्व साधक अमृत प्रजापति ने आरोप लगाया था कि आसाराम भारती को फोन करते थे और वो गाड़ी से लड़कियां लाती थीं। हालांकि भारतीश्री ने इसका खंडन किया था।