डिट और डेबिट कार्ड यूजर्स के लिए बड़ी खबर है। RBI के आदेश के कारण करीब 90 करोड़ क्रेडिट और डेबिट कार्ड से होने वाले ऑनलाइन पेमेंट सिस्टम पर खतरा मंडरा रहा है। जानिए क्या है पूरा मामला।
आरबीआई ने दिया यह आदेश : आरबीआई ने आदेश दिया दिया है कि विदेशी कंपनियां 15 अक्टूबर तक भारत के ग्राहकों का डेटा सिर्फ भारत में स्टोर करना शुरू करे। इससे परेशान वीजा, मास्टरकार्ड, गूगल ने 5 अक्टूबर को वित्तमंत्री से मुलाकात की। इन कंपनियों ने वित्त मंत्री से मुलाकात कर डेटा स्टोर के लिए और समय मांगा है। कंपनियों ने कहा है कि वे 15 अक्टूबर तक डेटा स्टोर करने में सक्षम नहीं है, इसके लिए उन्हें और वक्त दिया जाए।
वित्त मंत्री से मांगा दो साल का समय : कंपनियों ने वित्तमंत्री अरुण जेटली से मुलाकात कर डेटा स्टोर करने के लिए और वक्त मांगा है। कंपनियों का कहना है कि उन्हें डेटा स्टोर करने में करीब 2 साल का वक्त और लगेगा। उन्होंने डेटा स्टोर के बजाय कॉपी रखने की भी छूट की मांग की है।
ऑनलाइन पेमेंट पर पड़ेगा असर : अगर डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड पेमेंट सिस्टम बंद होता है तो करीब 90 करोड़ डेबिट और क्रेडिट कार्ड पर असर पड़ेगा। कार्ड सिस्टम बंद होने के साथ-साथ विदेशी कंपनियों के दूसरे गेटवे भी बंद होने का खतरा बढ़ जाएगा। वीजा, मास्टरकार्ड, गूगल ने आरबीआई से भी छूट मांगी है।